Guru Shakti

महाविद्या तारा साधना कैसे करें - मंत्र और विधि


तारा साधना कैसे करें - मंत्र और विधि 
How To Do Tara Mahavidya Sadhna

Tara means rescuer and is the second of Dasa Mahavidyas. Mainly Tara is a form of Durga or Parvati. Tara is perceived at core as the absolute, unquenchable hunger that propels all life. The complexion of Tara is blue and she is also called Neel Saraswati. Tara Sadhna is mainly accomplished to gain knowledge, wisdom, wealth and totality of life. Tara Sadhna also provide protection from natural calamities, accidents and other perils from life. Gurudev tells how to do Mahavidya Tara Sadhna with Shastrokt & Gorakhnath mantra and most importantly secret TIPS.  

1.इस साधना में काली हकीक माला  का इस्तेमाल होता है.
2.तारा साधना केवल रात्रि को ही हो सकती है. रात्रि का अर्थ 9 बजे से सुबह 4 बजे तक है. 
11:37 मिनट से 12:37 मिनट तक मंत्र का जप अनिवार्य है. 
3. मंत्र साधना केवल अकेला साधक ही कर सकता है. 
4. तेल का दीपक लगाना आवश्यक है. 
5. सफेद आसन और सफेद धोती पहन कर साधना करें. सिला हुआ वस्त्र नहीं पहन सकते. 

केवल 14 दिन की साधना है. रोज 51 माला मंत्र जाप करना है.. 
दक्षिण दिशा की और मुँह करना है. कमरे का दरवाजा थोड़ा खुला रखें


                  शास्त्रोक्त मंत्र 

"ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं श्रीं  तारायै नमः"
"Om Hreeng Shreeng Kleeng Shreeng Tarayee Namah:"

             गोरखनाथ प्रणीत मंत्र 
            "ॐ तारा तूरी स्वाहा।।"

Click Here For The Audio Version of The Tara Sadhna

Some Useful Links 
Shri Ugar Tara Mantra Aghor Sadhna
Tara Mahavidya Mantra & Dhyan
Chhinnamasta Mantra


Print Friendly and PDF