Debt Removal Bhairav Tantra


ऋण मुक्ति बटुक भैरव तंत्र 

Bhairav Tantra To Remove Debt
It is said that in the present times of Kaliyug the Sadhanas of Lord Bhairava are among the most easy to accomplish and succeed in. The ancient text Shiv Mahapuraan states that Bhairav is but another form of Lord Shiva and he protects his devotees from the most grave dangers. This Bhairav ​​Tantra is a perfect sadhana to remove the debt, debt trap and hurdles in getting money.

 

ऐसा कहा जाता है कि कलियुग के वर्तमान समय में भगवान भैरव के साधना को पूरा करना और उसमें सफल होना सबसे आसान है। प्राचीन  शिव महापुराण में कहा गया है कि भैरव भगवान शिव का एक और रूप है और वह अपने भक्तों की सभी आपत्तियों से रक्षा करते हैं | यह भैरव तंत्र ऋण, देनदारी तथा धनागम की अड़चनों को दूर करने के लिए एक अचूक प्रयोग है | 

 

शुभ लाभ : ऋण, देनदारी तथा धनागम की अड़चनों को दूर करने के लिए 

 

How To Perform the Bhairav Tantra To Remove Debt

 

This Bahirav sadhana can be started on any Saturday.

Dedicate vermilion and oil to the idol of Bhairav ​​on Saturday.

Make 21 raw cotton lights equal to your length and burn them in 21 oil lamps.

This lamp should be kept burning till the time of sadhana.

Chanting these eight mantras eight to eight times while praying for your daily work.

 

  1. om chandaay namah 
  2. om prachandaay namah 
  3. om oordhvakeshaay namah 
  4. om bheeshanaay namah 
  5. om abheeshanaay namah 
  6. om vyomakeshaay namah 
  7. om vyomabaahave namah 
  8. om vyomavyaapaakay namah

 

कैसे करें भैरव तंत्र साधना 

 

  • यह साधना किसी भी शनिवार को प्रारम्भ की जा सकती है|
  • शनिवार के दिन भैरव की मूर्ति पर सिंदूर और तेल समर्पित करें |
  • अपनी लम्बाई के बराबर 21 कच्चे सूत की बत्ती बना कर 21 तेल के दीपकों में जलाएं |
  • यह दीपक साधना काल तक जलते रहे |
  • अपने इष्ट कार्य की प्रार्थना करते हुए इन आठ मंत्रों का जप आठ - आठ बार करें | 

 

  1. ॐ चण्डाय नमः 
  2. ॐ प्रचण्डाय नमः 
  3. ॐ ऊर्ध्वकेशाय नमः 
  4. ॐ भीषणाय नमः 
  5. ॐ अभीषणाय नमः 
  6. ॐ व्योमकेशाय नमः 
  7. ॐ व्योमबाहवे नमः 
  8. ॐ व्योमव्यापाकय नमः 

 

After these names, chant 5 rosaries of this mantra of Batuk Bhairav ​​with the Energized Coral Mala.

Later dedicate jaggery and sesame sacrifice to Bhairav.

Finally, offer sura to the Bhairav.

 

इन नामों के बाद बटुक भैरव के इस मन्त्र की 5 माला जप प्राण प्रतिष्ठित मूंगे की माला से करें |

बाद में गुड़ और तिल की बलि भैरव को समर्पित करें |

अंत में देव को सुरा का भोग लगाएं | 


भैरव मन्त्र 


ॐ ह्रीं बटुकाय आपद्ध उद्धारणाय कुरु कुरु
 बटुकाय ह्रीं ॐ स्वाहा ॥ 

 

Bhairav Mantra

"Om Hreem Batukaay Aapad Uddhaarnnaay Kuru Kuru Batukaay Hreem Om Swaahaa"

 

Requirements: vermilion, raw cotton, 21 lamps of oil, jaggery, sesame, coach grass, Energized Coral Mala.

 

सामग्री : सिन्दूर, कच्चा सूत, तेल के 21 दीपक, गुड़, तिल, दूब घास, प्राण प्रतिष्ठित मूंगे की माला 


 Contact WhatsApp

Published on Aug 28th, 2020


Do NOT follow this link or you will be banned from the site!